मकर संक्रांति : त्यौहार एक नाम अनेक

भारत देश में मकर संक्रांति का त्यौहार बड़े हर्ष उत्साह के साथ मनाया जाता है

इस पर्व को देश के अलग-अलग प्रांत में कई नामों से जाना जाता है

उत्तर भारत में इसे 'मकर संक्रांति' या 'खिचड़ी' के नाम से जाना जाता है। इस दिन लोग उड़द की दाल, तिल व चावल का दान करते हैं

तमिलनाडु में इसे पोंगल (pongal) के नाम से जाना जाता है, इस दिन लोग सूर्य की पूजा करते है और चावल - गुड़ का प्रसाद बनाते हैं

असम में इसे 'बिहू' (Bihu) के नाम से जाना जाता है, इस दिन से लोग फसल की कटाई का काम शुरू करते हैं

गुजरात में इस पर्व को उत्तरायण के नाम से जाना जाता है, इस दिन गुजरात में पतंगबाज़ी का आयोजन किया जाता है

पंजाब और हरियाणा में इस दिन नई फसल के स्वागत की खुशी में लोहड़ी का पर्व मनाते हैं

बंगाल में इस दिन गंगा सागर का मेला लगता है और लोग नदी में स्नान के पश्चात तिल का दान करते हैं

बिहार में इस पर्व को 'तिल संक्रांति' और 'दही चूड़ा' के नाम से जाना है

गुड़ और चना खाने के स्वास्थ्य लाभ